Bollywood News

‘स्टेट ऑफ सीज: टेंपल अटैक’: कमाल दिखाएंगे गौतम रोडे, बोले- फिल्म के मोमेंट झकझोर देंगे

9 जुलाई को रिलीज होगी ‘स्टेट ऑफ सीज’

नई दिल्ली:

9 जुलाई को रिलीज होने जा रही ‘स्टेट ऑफ सीज: टेंपल अटैक’ फिल्म दर्शकों को रोंगटे खड़े कर देगी. यह फिल्म 26/11 वेब सीरीज से इंस्पायर्ड है. यह सीरीज भारतीय सैनिकों के लिए ट्रिब्यूट थी. वहीं अब इसी घटना पर आधारित ‘स्टेट ऑफ सीज: टेंपल अटैक’ फिल्म बनकर तैयार है जो शुक्रवार यानी की कल ज़ी5 पर रिलीज की जाएगी. आपको बता दें कि इसी साल की शुरुआत में बहादुर भारतीय सैनिकों को सलाम करते हुए सीज श्रृंखला ने इस फिल्म की घोषणा की थी. यह फिल्म एक फिल्म नहीं बल्कि एक सच्चाई है जो आमतौर पर लोगों के सामने नहीं आ पाती. दरअसल यह कहानी उन जवानों के ऊपर है जो कभी अपनी आप बीती किसी से साझा नहीं करता. 

यह भी पढ़ें

बचपन से ही आर्मी और वर्दी पहनना चाहते थे गौतम रोडे

इस फिल्म में गौतम रोडे एनएसजी कमांडो ‘समर’ की भूमिका निभाते हुए नजर आएंगे. NDTV इंडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई आर्मी स्कूल से की है और जब भी वे अपने दोस्तों के पेरेंट्स को देखते तब मुझमें भी जोश भर उठता. गौतम कहते है कि जब उन्हें करियर चुनने का मौका मिला और वे अभिनय की दुनिया में कदम रखा. तब उनके मन में जरूर ठान लिया था कि वे देश के जवानों पर आधिरत फिल्म जरूर करेंगे. 

इस फिल्म को करने के बाद क्या बदलाव महसूस किया

गौतम रोडे कहते हैं कि यह फिल्म बाकी फिल्मों से एक दम हटके है. एक्शन भरपूर है. यह फिल्म आपके अंदर जोश भर देगी. फिल्म में कई मोमेंट ऐसे भी होंगे जो आपको अंदर से झकझोर के रख देंगे. एक्टर आगे कहते हैं कि इस फिल्म को करने के बाद मुझमें काफी बदलाव आया. मैंने ‘अनुशासन’, ‘त्याग’ और एक बड़ा मैसेज सीखा है. जिसें मैं जीवन भर फॉलो करना पसंद करूंगा. 

See also  सुहाना खान ने शेयर की लेटेस्ट सेल्फी, ग्लैमरस अवतार में दिखीं शाहरुख खान की बेटी

इस फिल्म को लेकर किस तरह से तैयारी की गई थी

NDTV को दिए गए इंटरव्यू के दौरान गौतम रोडे कहते हैं कि यह बाकी फिल्मों की तरह काल्पनिक नहीं है इसलिए हर चीज का ध्यान रखना जरूरी था. इस फिल्म के लिए खास तैयारियां की गईं थीं. कर्नल सेन ने हमें चलना, उठना, बोलना सिखाया था. वे आगे कहते है कि जवानों की जिंदगी जीना सच में कठिन बात है. मैं उन सभी जवानो को सलाम करना चाहता हूं जो हमारे देश की रक्षा करने के लिए दिन रात जुटे रहते हैं. 

इस फिल्म का ऐसा सीन कौन सा है जो दर्शकों के रोगटे खड़े कर देगा  ?

इस सवाल का जवाब देते हुए गौतम भी इमोशल हुए उन्होंने बताया कि जवान किसी भी दुख परेशानी को अपने शक्ल और आवाज पर झलकने नहीं देता. जब उसे इस मिशन के बारे में पता चलता है तब उसकी पत्नी प्रेग्नेंट होती है, लेकिन इस खुशी को दबाते हुए उसकी पत्नी उसे इस मिशन के लिए भेज देती है. एक्टर कहते हैं कि आज भी उस सीन को याद करो तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं क्योंकि एक मोमेंट ऐसा आता है जब उसे पता चलता है कि वो बाप बन गया है. उसे बेटी हुई है, लेकिन तब समर इतना घायल हो चुका होता है कि उसे यह भी पता नहीं होता की वह अपने घर वापस जा भी पाएगा या नहीं, लेकिन इन सबके बाद भी वह अपनी पत्नी को इस बात का एहसास नहीं होने देता कि वह कितना घायल हो चुका है.

See also  State of Siege Temple Attack teaser: Akshaye Khanna’s ZEE5 film dramatises 2002 Akshardham temple attack

दर्शकों को क्या मैसेज देना चाहेंगे आप

गौतम कहते हैं कि यह मेरे जीवन की अब तक की सबसे खास फिल्मों में से एक है. इस फिल्म की कहानी आपको काफी पसंद आने वाली है. आप इस फिल्म को देखने के बाद देश के जवानों का अटूट समर्पण का अंदाजा लगा सकते हैं.

Source link

Leave a Comment

close