Bollywood News

बेहद है बिहारी शत्रुघ्न सिन्हा और पूनम की लव स्टोरी स्टोरी, ‘पाकीज़ा का ये डायलॉग बोलकर किया था प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़ प्रपोज़

शत्रुघ्न ने एक डायलॉग बोलकर की थी अपनी लव स्टोरी शुरू शुरू शुरू शुरू

यह कैसे काम करता है:

9 दिसंबर 1945 को के कदमकुआं गांव में बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का जन्म हुआ था। उनके यहां उनके बड़े भाई साइंटिस्ट, इंजीनियर और डॉक्टर थे। ऐसे उनके पिता चाहते थे कि उनका छोटा बेटा यानी कि शत्रुघ्न सिन्हा भी डॉक्टर या बनेंगे लेकिन उन्हें इन दोनों में ही दिलचस्पी नहीं थी। इसके वे पांचवीं फिल्म से संस्थान में अभिनय के गुण सीखते हैं और एक दशक के शानदार अभिनेता बने रहते हैं। 76 वां विकल्प हैं। ऐसे में हम आपको बता देते हैं कि इस बाबू की लव स्टोरी कि कैसे उन्होंने अपनी वाइफ पूनम को प्रपोज़ किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए। किया किया किया किया किया किया किया

यह कैसे काम करता है?

अपना पैसा कैसे कमाया जाए

शत्रुघ्न और पूनम सिन्हा की लव स्टोरी की बात करें तो उनकी पहली मुलाकात ट्रेन में हुई थी। कोई समस्या होने की अच्छी संभावना है। पूनम पहली बार देखते से ही शत्रुघ्न अपना दिल हार गए और वे मन ही मन ठान ली कि वो शादी क क तो पूनम से ही करेंगे। जब शत्रुघ्न का परिवार पूनम के घर संबंध लेकर पहुंचें, तो पूनम की मां ने शत्रुघ्न की शक्ल देख कर कहा कि यह लड़का तो गुंडा लगता है और शादी का रिश्ता ठुकरा दिया, क्योंकि पूनम बेहद खूबसूरत थीं और पूर्व मिस यंग इंडिया भी रह चुकी थीं।

खामोश… इस डायलॉग में प्रस्ताव नहीं रखा गया है

शत्रुघ्न का फेमस डायलॉग डायलॉग खामोश हैं तो आप सभी को याद होगा। लेकिन पूनम को इस डायलॉग से नहीं बल्कि चलती ट्रेन में पाकीज़ा पाकीज़्ज़ा फ़िल्म का डायलॉग डायलॉग अपना ज़मीन पर ज़मीन पर मत खिएग खिएग खिएग: पर: पर: पर मत मत शब्द खिएग उर्फ़ मत ओके खिएग उर्फ़ बोलकरिएगा बोलकर प्रपोज किया। शत्रुघ्न यह अंदाज़ देखकर पूनम भी उन पर फ़िदा हो गए और जब मियाँ बिनी राजी तो क्या करेगा काजी। 1980 से 1980 के बीच का दौर हुआ। कार्यक्रम के लिए कई विकल्प हैं। इस बात की प्रबल संभावना है कि आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। वहीं, उनके सोनाक्षी सिन्हा बॉलीवुड की लीडिंग एक्ट्रेस में से एक हैं।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

अशोक ने गुजरात हार के लिए फंडिंग को बत बताया कारण कारण कारण इलेक, इलेक इलेक बॉनबॉन पर सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल

.

शत्रुघ्न ने एक डायलॉग बोलकर की थी अपनी लव स्टोरी शुरू शुरू शुरू शुरू

यह कैसे काम करता है:

9 दिसंबर 1945 को के कदमकुआं गांव में बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का जन्म हुआ था। उनके यहां उनके बड़े भाई साइंटिस्ट, इंजीनियर और डॉक्टर थे। ऐसे उनके पिता चाहते थे कि उनका छोटा बेटा यानी कि शत्रुघ्न सिन्हा भी डॉक्टर या बनेंगे लेकिन उन्हें इन दोनों में ही दिलचस्पी नहीं थी। इसके वे पांचवीं फिल्म से संस्थान में अभिनय के गुण सीखते हैं और एक दशक के शानदार अभिनेता बने रहते हैं। 76 वां विकल्प हैं। ऐसे में हम आपको बता देते हैं कि इस बाबू की लव स्टोरी कि कैसे उन्होंने अपनी वाइफ पूनम को प्रपोज़ किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए किए। किया किया किया किया किया किया किया

यह कैसे काम करता है?

अपना पैसा कैसे कमाया जाए

शत्रुघ्न और पूनम सिन्हा की लव स्टोरी की बात करें तो उनकी पहली मुलाकात ट्रेन में हुई थी। कोई समस्या होने की अच्छी संभावना है। पूनम पहली बार देखते से ही शत्रुघ्न अपना दिल हार गए और वे मन ही मन ठान ली कि वो शादी क क तो पूनम से ही करेंगे। जब शत्रुघ्न का परिवार पूनम के घर संबंध लेकर पहुंचें, तो पूनम की मां ने शत्रुघ्न की शक्ल देख कर कहा कि यह लड़का तो गुंडा लगता है और शादी का रिश्ता ठुकरा दिया, क्योंकि पूनम बेहद खूबसूरत थीं और पूर्व मिस यंग इंडिया भी रह चुकी थीं।

खामोश… इस डायलॉग में प्रस्ताव नहीं रखा गया है

शत्रुघ्न का फेमस डायलॉग डायलॉग खामोश हैं तो आप सभी को याद होगा। लेकिन पूनम को इस डायलॉग से नहीं बल्कि चलती ट्रेन में पाकीज़ा पाकीज़्ज़ा फ़िल्म का डायलॉग डायलॉग अपना ज़मीन पर ज़मीन पर मत खिएग खिएग खिएग: पर: पर: पर मत मत शब्द खिएग उर्फ़ मत ओके खिएग उर्फ़ बोलकरिएगा बोलकर प्रपोज किया। शत्रुघ्न यह अंदाज़ देखकर पूनम भी उन पर फ़िदा हो गए और जब मियाँ बिनी राजी तो क्या करेगा काजी। 1980 से 1980 के बीच का दौर हुआ। कार्यक्रम के लिए कई विकल्प हैं। इस बात की प्रबल संभावना है कि आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। वहीं, उनके सोनाक्षी सिन्हा बॉलीवुड की लीडिंग एक्ट्रेस में से एक हैं।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

अशोक ने गुजरात हार के लिए फंडिंग को बत बताया कारण कारण कारण इलेक, इलेक इलेक बॉनबॉन पर सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल सवाल

.

Leave a Comment

close