Bollywood News

फिल्म दिल गाना मुझे नींद न आए को लेकर अलका याग्निक और अनुराधा अनुराधा पौडवाल में बढ़ोतरी तक तकरा तकरा तकरा नहीं किय किय एक दूस दूस शब्द ब शोक

‘मुझे नींद आ गई थी लेकर अलका और अनुराधा पौडवाल में चली गई थी

यह कैसे काम करता है:

आमिर और माधुरी दीक्षित की एक फिल्म 1990 में रिलीज हुई थी थी थी थी मुझे एक समस्या है। दिल कहानी दो युवाओं की थी, जिसकी खातिर सभी कुछ कर रहे हैं। फिल्म की कहानी के युवा बहुत पॉपुल पॉपुल पॉपुल हुए और इसके हस्ताक्षर ने बीच में ही सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। ‘दिल’ का अलग काम है। इसमें और माधुरी के अलावा सईद जाफ़री जाफ़री देवेन देवेन और अनुपम खेर लीड रोल में थे थे फिल्म संगीत आनंद आनंद ने दिया था, जबकि गीत समीर ने लिखे थे।

यह कैसे काम करता है?

कई गाने लोकप्रिय हुए, लेकिन मुझे नींद नहीं आई तो सुन इस गीत अनुराधा पौडवाल और उदित नारायण ने पढ़ा था था इस फिल्म के संगीत को लेकर एक विवाद उस समय गहरा गया जब अलका याज्ञनिक याज्ञनिक (अलका याज्ञनिक) गाये को अनुराधा पौडवाल से चला गया गया। गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया से से। अलका डायरेक्टर का कनेक्शन आनंद से इतना खफा हो गया कि उन्होंने दो साल तक उनके साथ कोई काम नहीं किया।

यही नहीं, इसके अलका और अनुराधा के बीच भी संबंध बहुत अच्छे नहीं रह रहे हैं। इसे अनुराधा पौडवाल से गवाने को लेकर अलका से कहा गया था कि अनुराधा की आवाज माधुरी को ज्यादा सूट करती है। बेशक चाहे जो भी हो, लेकिन इसके गीत बहुत खूब सुने और सुनाए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए लागत 50 से 50% है।

इसकी संभावना को इसके बॉक्स ऑफिस कलेक्शन से भी कुछ समझा जा सकता है। फिल्म दो करोड़ रुपये के बजट में बनाई गई थी जबकि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर करोड़ रुपये ऊपर का का का था।

दिल 36 वें विज्ञापन में कई श्रेणियों का नाम दिया गया था। समीर मी स्लीप ना आए गाने के लिए बेस्ट लिरिसिस्ट कैटेगरी नॉमिनेट हो गए थे। लेकिन जीतने में माधुरी दीक्षित ही संभव हो सकां सकां। ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप अपना पैसा कमा सकते हैं।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

सुखविंदर सुक्खू को मिली हिमाचल के नए आर्टिकल कमांड कमांड कमांड कमांड

.

‘मुझे नींद आ गई थी लेकर अलका और अनुराधा पौडवाल में चली गई थी

यह कैसे काम करता है:

आमिर और माधुरी दीक्षित की एक फिल्म 1990 में रिलीज हुई थी थी थी थी मुझे एक समस्या है। दिल कहानी दो युवाओं की थी, जिसकी खातिर सभी कुछ कर रहे हैं। फिल्म की कहानी के युवा बहुत पॉपुल पॉपुल पॉपुल हुए और इसके हस्ताक्षर ने बीच में ही सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। ‘दिल’ का अलग काम है। इसमें और माधुरी के अलावा सईद जाफ़री जाफ़री देवेन देवेन और अनुपम खेर लीड रोल में थे थे फिल्म संगीत आनंद आनंद ने दिया था, जबकि गीत समीर ने लिखे थे।

यह कैसे काम करता है?

कई गाने लोकप्रिय हुए, लेकिन मुझे नींद नहीं आई तो सुन इस गीत अनुराधा पौडवाल और उदित नारायण ने पढ़ा था था इस फिल्म के संगीत को लेकर एक विवाद उस समय गहरा गया जब अलका याज्ञनिक याज्ञनिक (अलका याज्ञनिक) गाये को अनुराधा पौडवाल से चला गया गया। गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया गवाया से से। अलका डायरेक्टर का कनेक्शन आनंद से इतना खफा हो गया कि उन्होंने दो साल तक उनके साथ कोई काम नहीं किया।

यही नहीं, इसके अलका और अनुराधा के बीच भी संबंध बहुत अच्छे नहीं रह रहे हैं। इसे अनुराधा पौडवाल से गवाने को लेकर अलका से कहा गया था कि अनुराधा की आवाज माधुरी को ज्यादा सूट करती है। बेशक चाहे जो भी हो, लेकिन इसके गीत बहुत खूब सुने और सुनाए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए गए लागत 50 से 50% है।

इसकी संभावना को इसके बॉक्स ऑफिस कलेक्शन से भी कुछ समझा जा सकता है। फिल्म दो करोड़ रुपये के बजट में बनाई गई थी जबकि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर करोड़ रुपये ऊपर का का का था।

दिल 36 वें विज्ञापन में कई श्रेणियों का नाम दिया गया था। समीर मी स्लीप ना आए गाने के लिए बेस्ट लिरिसिस्ट कैटेगरी नॉमिनेट हो गए थे। लेकिन जीतने में माधुरी दीक्षित ही संभव हो सकां सकां। ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप अपना पैसा कमा सकते हैं।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

सुखविंदर सुक्खू को मिली हिमाचल के नए आर्टिकल कमांड कमांड कमांड कमांड

.

Leave a Comment

close