Bollywood News

छोटी साथ लेकर फिल्म देखने में अब नहीं होगा कोई परेशान परेशान सिनेमाघर सिनेमाघर ने अपनाया तरीका देखकर आप भी देखें एक शब्द बहा!

छोटे साथ लेकर फिल्म में अब नहीं देखेंगे कोई परेशान परेशान परेशान परेशान परेशान परेशान

यह कैसे काम करता है:

सिनेमा अक्सर अपने परिवार और बच्चों को लेकर जाते हैं। लेकिन कभी-कभी छोटे छोटे बच्चे सिनेमाघर में रोकर न केवल अपनी मां-बाप की फिल्म का मजा खराब करते हैं, बल्कि आसपास के लोगों को भी कोई एक से एक से काक काइक हैं का ठीक हैं काइके हैं ते करेश करेश क क क क क इस परेशानी को ध्यान में रखते हुए केरल सरकार ने विशेष तरह का सिनेमाघर सिनेमाघर खोला है मां मां मां अपने बच्चे के साथ में देख सकती हैं न न केवल मां मां को अन्य बल्कि को को को को को को को को को कोन ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस को को को को को को भी रिले करेगा।

केरला की ओर से संचालित फिल्म थियेटर कॉम्पलेक्स ने बच्चों के साथ मां मां के साथ एक स साउंड साउंड साउंड साउंड क क सीटर्स क्राईंग साइज जूम उर्फ ​​पित है। अगर बच्चा फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान रोता है तो माता-पिता अपने कमरे में ले जा सकते हैं और कमरे के अंदर की खिड़की को देख सकते हैं है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, नहीं हो सकता है, नहीं है, नहीं है, नहीं है। फिल्म के लिए कमरे में मां या या करने वालों में से कुछ मौजूद रहेंगी। केरल के सांस्कृतिक मामलों के मंत्री वीएन वसावा ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर क्राइंग क्राएंग रूम की तस्वीर शेयर शेयर की शेयर की है। यह तीन में आठ है

इस ‘क्रेंग रूम की तस्वीर को शेयर करते हुए वसावा ने पोस्ट में लिखा लिखा लिखा लिखा मां मां के ऐसा बहुत कम है जो आपके बच्चों के थिएटर की फिल्म लेने के लिए लेने के लिए आते हैं, आते हैं। हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं आते आते हैं। बच्चे में अंधेरा, आवाज और रौशनी से परेशान हो जाते हैं और थिएटर छोड़ दिया जाता है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है का पीछा करता है अगर फिल्म देखते हुए रोता है तो रिटायरमेंट की कोई जरूरत नहीं है। केआरडीसीई कैराली थिएटर कॉम्प्लेक्स ने सरकारी थिएटरों को महिलाओं और बच्चों के अनुकूल बनाने के एक हिस्से के रूप में कैराली थिएटर कॉम्प्लेक्स में एक क्राई रूम स्थापित किया है। . इसके अलावा, बच्चे के साथ कमरे में बिना किसी परेशानी के फिल्में देखने की व्यवस्था है।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। स्क्रीन खोलने के लिए कई विकल्प हैं।’

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

यह कैसे काम करता है? यह कैसे काम करता है?

.

छोटे साथ लेकर फिल्म में अब नहीं देखेंगे कोई परेशान परेशान परेशान परेशान परेशान परेशान

यह कैसे काम करता है:

सिनेमा अक्सर अपने परिवार और बच्चों को लेकर जाते हैं। लेकिन कभी-कभी छोटे छोटे बच्चे सिनेमाघर में रोकर न केवल अपनी मां-बाप की फिल्म का मजा खराब करते हैं, बल्कि आसपास के लोगों को भी कोई एक से एक से काक काइक हैं का ठीक हैं काइके हैं ते करेश करेश क क क क क इस परेशानी को ध्यान में रखते हुए केरल सरकार ने विशेष तरह का सिनेमाघर सिनेमाघर खोला है मां मां मां अपने बच्चे के साथ में देख सकती हैं न न केवल मां मां को अन्य बल्कि को को को को को को को को को कोन ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस ऑडियंस को को को को को को भी रिले करेगा।

केरला की ओर से संचालित फिल्म थियेटर कॉम्पलेक्स ने बच्चों के साथ मां मां के साथ एक स साउंड साउंड साउंड साउंड क क सीटर्स क्राईंग साइज जूम उर्फ ​​पित है। अगर बच्चा फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान रोता है तो माता-पिता अपने कमरे में ले जा सकते हैं और कमरे के अंदर की खिड़की को देख सकते हैं है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, है, नहीं हो सकता है, नहीं है, नहीं है, नहीं है। फिल्म के लिए कमरे में मां या या करने वालों में से कुछ मौजूद रहेंगी। केरल के सांस्कृतिक मामलों के मंत्री वीएन वसावा ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर क्राइंग क्राएंग रूम की तस्वीर शेयर शेयर की शेयर की है। यह तीन में आठ है

इस ‘क्रेंग रूम की तस्वीर को शेयर करते हुए वसावा ने पोस्ट में लिखा लिखा लिखा लिखा मां मां के ऐसा बहुत कम है जो आपके बच्चों के थिएटर की फिल्म लेने के लिए लेने के लिए आते हैं, आते हैं। हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं आते आते हैं। बच्चे में अंधेरा, आवाज और रौशनी से परेशान हो जाते हैं और थिएटर छोड़ दिया जाता है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है का पीछा करता है अगर फिल्म देखते हुए रोता है तो रिटायरमेंट की कोई जरूरत नहीं है। केआरडीसीई कैराली थिएटर कॉम्प्लेक्स ने सरकारी थिएटरों को महिलाओं और बच्चों के अनुकूल बनाने के एक हिस्से के रूप में कैराली थिएटर कॉम्प्लेक्स में एक क्राई रूम स्थापित किया है। . इसके अलावा, बच्चे के साथ कमरे में बिना किसी परेशानी के फिल्में देखने की व्यवस्था है।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। स्क्रीन खोलने के लिए कई विकल्प हैं।’

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

यह कैसे काम करता है? यह कैसे काम करता है?

.

Leave a Comment

close