Bollywood News

‘चंडीगढ़ करे आशिकी’ में अपने किरदार पर बोले अभिषेक बजाज- “मेरे से बेहतर ये रोल कोई कर ही नहीं सकता था”

सवाल: चंडीगढ़ करे आशिकी में आपको रोल कैसे मिला?

जवाब: मेरे पास मुकेश छाबड़ा जी का कॉल आया था. उन्होंने मुझे ऑडिशन बनाकर भेजने को कहा था. मुझे ऑडिशन में सिलेंडर उठाना था. रात 12:30 बजे मैंने मुकेश जी को यह बनाकर भेजा, जबकि एक छोटे से एक्सीडेंट की वजह से मेरा हाथ पहले से ही कमजोर था. मुकेश जी ने इसके बाद मुझे फिल्म में ले लिया.

सवाल: आपने कमाल की बॉडी भी बना ली है. आखिर यह ट्रांसफॉरमेशन आपने कैसे किया?

जवाब: मेरे हाथ में स्टिचेस थे. फिर भी थोड़ा-बहुत जिम करना मैंने जारी रखा. इसके अलावा 40-50 दिनों तक मैंने शुगर को हाथ भी नहीं लगाया. हर दिन सुबह 3 घंटे और शाम में 2 घंटे मैं वर्कआउट करता था. जब मैं 12 साल का था, तभी से अपनी फिटनेस पर ध्यान देता था. इसे मैं आज भी फॉलो कर रहा हूं.

सवाल: इस फिल्म को करने के दौरान क्या आपको किसी तरह की दिक्कत का भी सामना करना पड़ा? यदि हां, तो आपके लिए सबसे कठिन चीज क्या रही?

जवाब: सच कहूं तो इस फिल्म में अपने किरदार को देखने के बाद मेरे अंदर यह भरोसा जाग गया था कि इस भूमिका को मेरे से ज्यादा अच्छी तरह से और कोई नहीं निभा सकता. फिल्म करने में मुझे कहीं कोई दिक्कत नहीं हुई. बस एक छोटी सी दिक्कत यही थी कि मेरे हाथ में स्टिचेस थे.

सवाल: आपकी यह फिल्म समलैंगिक संबंध के बारे में है. तो क्या फ्यूचर आप इस तरह के रोल करना चाहेंगे?

जवाब: मैं उस तरह के रोल्स करना पसंद करता हूं, जिसे मैं अपने परिवारवालों और दोस्तों के साथ बैठकर देख सकूं. यदि मुझे किसी लड़के के साथ लव मेकिंग सीन करने को कहा जाए, तो यह मैं नहीं कर सकता.

सवाल: अपने किरदार में खुद को ढालने के लिए आपने खुद को किस तरह तैयार किया?

जवाब: मैं रात में 11 बजे सो जाता था और सुबह 8 बजे उठता था. इसके बाद मैं वर्कआउट करता था. अपनी डाइट को भी मैंने काफी हेल्दी कर लिया, जिससे कि मुझे अपने किरदार के अनुसार ढलने में मदद मिली.

सवाल: आपके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स क्या हैं?

जवाब: मैंने 2 मूवी और कर रखी हैं, जो ओटीटी पर आएंगी. इसके साथ ही मेरा ‘योर हॉनर 2′ सोनी लिव पर आ रहा है.

ये भी देखें: RRR की टीम ने खोले राज, जानें कौन होता है ट्रोल से अपसेट तो राजामौली को क्यों पसंद है पढ़ना

Source link

Leave a Comment

close